रूप की करे रक्वाली -Roop-Ki-Kare-Rakhwal

रूप की करे रक्वाली 

रूप की करे रक्वाली -Roop-Ki-Kare-Rakhwal
रूप की करे रक्वाली -Roop-Ki-Kare-Rakhwal


  • गीत घुंघट 3 (रूप की रक्वाली)
  • गायक विश्वजीत चौधरी
  • संगीत अमन जाजजी
  • बोल नवीन विशु बाबा
  • लेबल स्पीड रिकॉर्ड हरियाणवी


रूप की कर रखवाली एक हिंदी गीत है। रूप की करे रक्वाली गीत को विश्वजीत चौधरी, खुशबू शर्मा ने गाया है । रूप की कार रक्वाली गीत का संगीत अमन जाजजी ने दिया है,जबकि बोल नवीन विष्णु बाबा द्वारा लिखे गए हैं । इस गीत का भंगुर या मूल नाम घुंघट 3 है घुंघट 3  गीत के बोल नीचे दिए गए हैं

रूप की करे रक्वाली Lyrics

गोली बरगी आंखे की मार ले बैठी
रूप की करे रक्वाली घूँघट की फात ले लेती (x3)

ना कम माने एक सर ले
बैथि न जियादा ना काम माने एक सर ले
बइठी रूप की करे रक्वाली घूँघट की फात ले लेती (x3)

गोरे गलुरा पे डेखो तिल की वकालत रे मिन्ता
में कर दे मुजरिम त्योर अदलत रे
हन .. मिन्ता में कर दे मुजरिम त्योर अदलात रे

गोली बरगी आंखे की मार ले बैठी
रूप की करे रक्वाली घूँघट की फात ले लेती (x3)

नवीन विशु की
गइली ममला बनिया कसौट रे महरे पापोस लियडो बिठवा द्यो सूत रे
हू .. महरे पापोस ल्याडो बिठवा द्यो सूत रे

मेरी भाभी आली बेबे की मेहकर ले बैठी
रूप की करे रक्वाली घूँघट की फात ले लेती (x3)

Post a Comment

1 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad